BGMI गेम आखिर क्यों हुआ बैन

battleground mobile india

Battleground mobile india क्या है

Battleground mobile india एक गेम है जिसे हम मोबाइल और कंप्यूटर से खेल सकते है,

इसका पहला नाम पब्जी मोबाइल था। ये एक Chinese version था इसलिए इंडिया ने इसको बैन किया और इसे इंडिया version बनाकर लॉन्च किया

आखिर ऐसा कियू किया था

जैसा की इस कुछ समय पहले कोरोना नामक बीमारी फेल रही थी लेकिन अब तो ख़तम ही है कोरोना जो की चीन से आया था इसलिए इंडिया ने चीन के बहुत अप्प बैन किये जिसमे से एक pubg भी था

फिर अनेक लोगो ने पब्जी को लेकर सबाल खड़े किये जो सरकार को सोचने पर मजबूर कर रही थी लेकिन इस कारढ़ से सरकार को कोई फरक पड़ा फिर गवर्मेन्ट ने क्राप्टोन से ये कहा की इसका पूरा इंडिया का होना चाइये तो फिर क्या क्राप्टोन ने जल्दी -से -जल्दी इंडिया version लांच करना चाहा। इससे वह pubg से bgmi बना लेकिन सरकार को पूरा डाटा चाइये था इसलिए इंडिया मैं फिर हुआ इंडिया मैं bgmi बैन

Bgmi गेम को लेकर क्राफ्टन लगातार मांग कर रही है सरकार से

भारत सरकार ने बैटलग्राउंड मोबाइल इंडिया (बीजीएमआई) पर प्रतिबंध लगा दिया है। अल्फाबेट इंक के गूगल और ऐप्पल ने भारत सरकार के निर्देशों का हवाले देते हुए 28 जुलाई, 2022 को क्राफ्टन द्वारा विकसित गेम को वापस ले लिया। यह प्रतिबंध Tencent’s Player Unknown’s Battlegrounds (PUBG) पर प्रतिबंध लगाने के एक साल बाद आया है, यह गेम BGMI पर आधारित है।

क्राफ्टन द्वारा bgmi को लेकर सरकार से लगातार मांग कर रही है लेकिन सरकार इस बारे मैं कोई निर्णय नहीं ले रही बस उसे देख कर नजर अंदाज कर देती लोगो ने ये बताया की यह प्रतिबंध एक महीने बाद आया है जब एक 16 वर्षीय लड़के ने कथित तौर पर अपनी मां को गोली मार दी थी क्योंकि उस माँ ने उसे “Pubg जैसे ऑनलाइन गेम” खेलने की अनुमति नहीं दी थी। इस कारण अपनी माँ को ही गोली का सीकार बना दिआ एक निर्दोस माँ को इसलिए सारकर ने किया बैन pubg जैसे गेम को:

विजयसाई रेड्डी किया ?

राज्यसभा सांसद वी विजयसाई रेड्डी ने सवाल किया था कि क्या आईटी मंत्रालय PUBG जैसे ऐप के खिलाफ कोई कार्रवाई कर रहा है, जो बच्चों को गेम खेलने से वंचित करने पर अपराध करने के लिए प्रेरित करता है। इसलिए इस गेम पर सख्त नियम से लगाया जायेगा

इस पर, जबाब देते हुये कहा की इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी राज्य मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने जवाब दिया, “इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (MeitY) में विभिन्न रिपोर्ट और शिकायतें bgmi तथा pubg जैसे गेम पर प्राप्त हुई हैं, संदेश सर रिपोर्ट इस कारण हमे इन सभी गेम को बैन करना पढ़ा

“ऐसी सभी रिपोर्टों और शिकायतों को गृह मंत्रालय (एमएचए), अनुरोध करने वाली एजेंसी, को जांच के लिए भेज दिया गया है। एमईआईटीवाई सूचना प्रौद्योगिकी सभी अप्प्प को
जनता द्वारा सूचना तक पहुंच को रोकने के लिए प्रक्रिया और सुरक्षा उपाय) नियम, 2009″ को लगाया गया हैं। एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने कहा कि ऐप चीन में स्थित सर्वरों से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से संचार कर रहा है। यह भी पाया गया है कि कुछ प्रतिबंधित चीनी ऐप्स को रीब्रांड कर दिया गया है और वे चीन में सर्वर के साथ संचार कर रहे हैं। चूंकि ऐसी संभावना है कि बीजीएमआई सहित ये ऐप स्थान, ऑडियो और अन्य संवेदनशील जानकारी जैसे डेटा एकत्र कर सकते हैं, इसलिए वे जांच के दायरे में हैं।

“एक मीडिया रिपोर्ट थी कि एक बच्चे ने अपनी मां को PUBG के आधार पर मार डाला है जो वह खेल रहा है। यह कारण खोजने के लिए एलईए द्वारा जांच का विषय है। लेकिन, PUBG गेमिंग ऐप को ब्लॉक कर दिया गया था। Google ने एक बयान भी जारी किया जिसमें बताया गया था कि प्रतिबंध ‘आदेश की प्राप्ति’ पर कैसे आधारित था। बयान में यह भी कहा गया है कि डेवलपर को कार्रवाई के बारे में सूचित किया गया था और ऐप पर भी

क्राफ्टन के CEO ने दिया BGMI का निवेदन

प्रतिबंध के बाद, क्राफ्टन इंडिया के सीईओ सीन ह्युनुइल सोहन ने एक आधिकारिक बयान जारी किया, जिसमे “बीजीएमआई के प्रिय संरक्षक, लिखा की हम भारतीय बाजार के लिए प्रतिबद्ध हैं और देश में अवसरों के बारे में सकारात्मक हैं। क्राफ्टन इंक में, हमारे उपयोगकर्ता डेटा की सुरक्षा और गोपनीयता हमारे लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है। हम हमेशा भारत में सभी कानूनों और विनियमों का अनुपालन करते रहे हैं, जिसमें डेटा संरक्षण कानून और विनियम शामिल हैं, और उनका पालन करना जारी रखेंगे।

“यहां तक ​​की हमारी यात्रा में आपने हमें जो प्यार और समर्थन दिया है, उसके लिए हम आपको धन्यवाद देते हैं और आशा करते हैं कि भविष्य में भी हमारे लिए आपका प्यार जारी रहेगा। देश के सबसे चहेते खेल-बीजीएमआई को लेकर मौजूदा हालात को लेकर आपके मन में सवाल हो सकते हैं। इसके अनुरूप, हम संबंधित अधिकारियों के साथ अपनी ईमानदारी से संवाद करने और मुद्दों को हल करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। ”

Leave a Reply